China का Internet पर कब्जा, तैयार किया सबसे तेज इंटरनेट; America, Japan सब हुए फेल!

China का Internet पर कब्जा :- जरा सोचिए अगर आप एक सेकंड में 150 एचडी मूवीज ट्रांसफर कर पाए तो जहां दुनिया भर में लोग 5जी और दूसरी सर्विसेस को एक्सपेंड करने में लगे हुए हैं वहीं चीन सबसे आगे निकल चुका है चीन ने अमेरिका को भी पीछे छोड़ते हुए एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है 

चीन ने दुनिया की सबसे तेज इंटरनेट स्पीड को लोंच कर दिया है आइए जानते हैं इसकी पूरी डिटेल्स इस पोस्ट में नमस्कार मैं हूं संदीप और आप पढ़ रहे हैं य्हरेड.कॉम दरअसल चीन ने दुनिया का सबसे तेज या यूं कहें कि फास्टेस्ट इंटरनेट अपने कुछ शहरों में लॉन्च कर दिया है इस इंटरनेट पर 1.2 टेराबाइट की स्पीड मिलेगी यानी आप 12gb प्रति सेकंड की स्पीड से इंटरनेट यूज कर सकते हैं 

आसान भाषा में बात करें तो यूजर्स सेकंडो में कई काम को कर सकते हैं इस स्पीड से नेटवर्क 1 सेकंड से भी कम समय में 150 एचडी मूवी को ट्रांसफर किया जा सकता है इस इसकी स्पीड का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि यह है कंपनी ने इसे टेस्टिंग के लिए जुलाई में एक्टिव किया था और अब इसे ऑफिशियल तौर पर लॉन्च किया है यह स्पीड फाइबर ब्रॉड बैंड सर्विस पर मिली है 

नेटवर्क ने सभी ऑपरेशनल टेस्ट को पार कर लिया है इस सक्सेस के लिए सिंघवा विश्वविद्यालय चाइना मोबाइल इंटरनेट टेक्नोलॉजी इंफ्रास्ट्रक्चर का हिस्सा है यह चाइना एजुकेशन और रिसर्च नेटवर्क यानी कि सरनेट का नया वर्जन है यह चीन का पहला देशव्यापी एजुकेशन और रिसर्च कंप्यूटर नेटवर्क है यह इंटरनेट सर्विस 3000 किमी तक फैले ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क के जरिए मिली है डाटा ट्रांसमिशन की बात करें 

तो यह चीन के तीन हिस्सों को कवर करता है यह इंटरनेट कनेक्टिविटी नॉर्थ में बीजिंग सेंट्रल चाइना में वहान और और दक्षिण में गजाओ को कवर करती है इन तीनों पॉइंट्स के बीच 1.2 टीबी प्रति सेकंड की स्पीड से डेटा ट्रांसफर किया जा सकता है 

हाल में लॉन्च हुआ सबसे तेज इंटरनेट 400gb प्रति सेकंड की स्पीड से काम करता है मौजूदा स्पीड की बात करें तो दुनिया भर में इस्तेमाल होने वाले इंटरनेट बैकबोन नेटवर्क पर 100gb पीए की स्पीड मिलती है 

अमेरिका ने हाल ही में 400 गगा बिट प्रति सेकंड पर अपनी पांचवीं पीढ़ी के इंटरनेट 2 को पूरा किया है यह अमेरिका की पांचवीं पीढ़ी के नेट से कहीं आगे है hu5 एचडी फिल्मों को सिर्फ एक सेकंड में ट्रांसफर किया जा सकता है यही नहीं इंटरनेट को तेज बनाने के लिए जो भी सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर का इस्तेमाल किया गया है उसे चीन ने अपने यहां ही बनाया है इसमें राउटर स्विच से लेकर ऑप्टिकल फाइबर कनेक्शन तक शामिल है 

इस प्रोजेक्ट के लिए किसी भी विदेशी कंपनी की मदद नहीं ली गई है अब चीन ने ऐसा कैसे कर दिखाया 

अब इसे भी समझ लेते हैं चीन ने तकनीक में सफलता हासिल करने के लिए कई सालों पहले ही योजना बनानी शुरू कर दी थी यहां इंटरनेट टेक्नोलॉजी से जुड़े कंपोनेंट बनाने के लिए धीरे-धीरे अमेरिका और जापान पर निर्भरता घटाने शुरू की और साथ ही उसने स्वदेशी कंपोनेंट बनाने शुरू किए चीन यही नहीं रुका है अब यहां इससे भी ज्यादा स्पीड को बढ़ाने की तैयारी है इस प्रोजेक्ट से जुड़ी टीम यहां मल्टीपल ऑप्टिकल पाथ को एक साथ जोड़कर डाटा ट्रांसमिशन की स्पीड को और भी बढ़ाने की फिराक में है 

तकनीक से जुड़ी चीजों के मामले में चीन अब निर्भरता पूरी तरह से खत्म करना चाहता है हाल या सबसे तेज इंटरनेट इसका उदाहरण है चीन अब सिर्फ तकनीक के क्षेत्र में ही नहीं अंतरिक्ष में भी अपनी धाग बढ़ाने की तैयारी में है ड्रैगन अपने स्पेस स्टेशन का आकार दोगुना करना चाहता है इसके लिए कई वैज्ञानिकों ने काम करना शुरू भी कर दिया है इसके अलावा यहां कई मिशन लोंच करने की तैयारी है 

अगर आपको हमारे इस पोस्ट में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो इसे  शेयर जरूर करें साथ ही बिजनेस जत की खबरों से अपडेटेड रहने के लिए बने रहे हमारे साथ और देखते रहे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *