Biggest loot: दुनिया का सबसे बड़ा कौन सा घोटाला कर रहे है Gautam Adani?

दुनिया का सबसे बड़ा कौन सा घोटाला कर रहे है :- नमस्कार आप देख रहे हैं techtalk sandeep  और मैं हूं आपके साथ संदीप  एशिया का सबसे बड़ा स्लम धारावी कभी फिल्मों की वजह से तो कभी कुछ और वजहों से चर्चाओं में रहता है साल 2008 में आई फिल्म तो आपको बखूबी याद होगा इस फिल्म में धारावी को दिखाया गया था जिसके बाद कई टूरिस्ट धारावी की जीवन को देखने आते रहते हैं अब इसी धारावी को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है 

अब आपको तो पता ही होगा कि 18828 ग्रुप रीड डेवलप करने वाला है महाराष्ट्र सरकार ने धारावी स्लम री डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के लिए अडानी ग्रुप की बोली को अंतिम मंजूरी भी दे दी लेकिन मुंबई में स्थित स्लम का नया रूप देने के लिए बनाए गए धारावी री डेवलपमेंट प्रोजेक्ट का फिर से विरोध होने लगा है लगभग 20 साल पहले शुरू हुआ यह प्रोजेक्ट किसी ना किसी कारण से अटक रहा है 

अब क्या है पूरी खबर विस्तार से समझने की कोशिश करते हैं पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आरोप लगाया है कि बीजेपी सरकार धारावी के पुनर्विकास के बदले अडानी को 100 करोड़ वर्ग फुट का टीडीआर दे रही है यह दुनिया का सबसे बड़ा टीडीआर घोटाला है 

धारावी पुनर्विकास के नाम पर बीजेपी ने अडानी को ब्लैंक चेक दे दिया है यह हम होने नहीं देंगे उधव के नेतृत्व में शनिवार को धारावी के टी जंक्शन से लेकर बीकेसी स्थित अडानी के कार्यालय तक धारावी बचाव महामोर्चा निकाला गया 

उद्धव ठाकरे ने कहा कि धारावी की आबादी 7 लाख से अधिक है 

जबकि सर्वे में सिर्फ 95000 को पात्र घोषित किया गया है कोई पात्र हो या अपात्र सभी को धारावी में ही 500 वर्ग फुट का घर मिलना चाहिए यहां धारावी के लोगों को बेघर कर अडानी के बिजनेस टावर और ऊंची ऊंची इमारतें नहीं बनने देंगे अब उद्धव ठाकरे ने इस प्रोजेक्ट को लेकर और क्या-क्या बातें कही हैं यह भी जान लीजिए 

उद्धव के निशाने पर पीएम मोदी और उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस रहे उधव ने आरोप लगाया कि साल 2022 से लेकर 2023 के बीच सरकार ने जितने जीआर अडानी के लिए निकाले हैं उतने कभी किसी विभाग के लिए नहीं निकाले गए हैं जीआर में साफ लिखा है कि बीएमसी एमएमआरडीए या कोई संस्था यदि 15 दिनों के भीतर उनके प्रस्ताव पर निर्णय नहीं लिया तो वह मंजूर मान लिया जाएगा क्या इस तरह का आदेश अन्य डेवलपर के लिए भी आज तक दिया गया है अडानी को इस योजना के लिए चार गुना एफएसआई स्टैंप ड्यूटी प्रीमियम का शुल्क जीएसटी सुधार शुल्क जांच शुल्क और डिपॉजिट माफ कर दिया गया है यह कहना है 

उद्धव ठाकरे का इस पूरे मामले पर अडानी ग्रुप की भी सफाई आईहै अडानी ग्रुप के प्रवक्ता ने कहा कि हमें अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतिस्पर्धा और पारदर्शिता का पालन करने के बाद ही यह टेंडर मिला है टेंडर की शर्तें अघड़ी सरकार के समय ही बनाई गई थी सभी पात्र लोगों को धारावी में ही घर मिलेगा अपात्र लोगों को भी रेंटल हाउसिंग योजना के तहत घर प्रदान किए जाएंगे टीडीआर को लेकर भी सभी व्यवस्थाएं टेंडर नियमों के तहत हैं इसकी निगरानी महाराष्ट्र की सरकार कर रही है बता दें 

धारावी स्लम को नया रूप देने के लिए धारावी री डेवलपमेंट प्रोजेक्ट बनाया गया था यह पूरा प्रोजेक्ट 259 हेक्टेयर में फैला हुआ है ानी ग्रुप की कंपनी अडानी रियलिटी ने इस प्रोजेक्ट को बनाने के लिए 5069 यानी 5069 करोड़ की बोली लगाई थी जिसको महाराष्ट्र सरकार ने अंतिम मंजूरी दे दी 

अब यह प्रोजेक्ट अडानी ग्रुप की क कनी को देने पर विरोध हो रहा है जिस री डेवलपमेंट प्रोजेक्ट की इतनी चर्चा हो रही है उसके बारे में भी जानकारी ले लीजिए धारावी लगभग 269 हेक्टेयर में फैली स्लम है बांदरा कुरला कॉम्प्लेक्टेड और बर्तन समेत कई तरह के प्रोडक्ट्स बनाए जाते हैं जिनमें लगभग 1 लाख लोगों को रोजगार मिला हुआ है 

प्रोजेक्ट के अंतर्गत यहां हाई राइज बिल्डिंग और कई तरह के विकास किए जाने वाले हैं 2004 में शुरू किए गए इस प्रोजेक्ट के चलते 68000 लोगों लोगों को कहीं और बसाने का प्लान है इसके लिए उन्हें बने हुए मकान देने का वादा भी किया गया था साल 2011 में सरकार ने सभी टेंडर को निरस्त कर नया मास्टर प्लान बनाया था वहीं 2018 में बीजेपी शिवसेना सरकार ने इसके लिए स्पेशल पर्पस वेकल भी बनाया था हालांकि बाद में इसके लिए ग्लोबल टेंडर भी निकाला गया अब देखना होगा कि अडानी ग्रुप को धारावी बनाने में कितना समय लगता है तो इसी तरह बिजनेस जगत से जुड़ी तमाम ताजातरीन खबरों के लिए बने रहिए हमारे साथ और पढ़ते  रहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *